Skip to toolbar

Motivational story of a Lizard which changed My life

  1. Motivational story of a Lizard which changed My life. Here I write a true story of a Lizard. Story has changed my whole life and my aim.Nature is our good Teacher, there are many things hidden around us in nature.

     Through which we can acquire knowledge. The meaning of knowledge is not that we read the book itself, the true meaning of knowledge is that we learn something that is useful for us and our society. I am going to tell you in a similar useful story. Your guru can be anyone who can change our life. He is the true Teacher we can gain a lot of knowledge from crores of creatures in nature. Today I am going to tell a story about these things that I saw


Friends, today I am going to tell a story that makes us think. We can take knowledge from anywhere. Because man is a social animal and also has the highest ability to learn. But sometimes we get very important knowledge from those things which we have always ignored. And those little things can change our lives. Which is very useful for us.

  Friends, today I am going to tell you the story of a lizard child. Which filled me with enthusiasm. One day I was lying in the courtyard of my house. Suddenly I noticed a child of a lizard looking for its food in a wall.

 My house is made of an old design. It was a rainy season and a mild summer. Because during the rainy season, many small insects come near the bulb to see the light. I saw a lot of lizards on the wall of their courtyard, which was eating keto flying around the bulb. Among those lizards was a child of a very young lizard who was very young. He is working very hard for his hunting but he is not successful. He kept looking at her for nearly an hour that day but he did not get success, but he was hungry that day, but his enthusiasm and enthusiasm was worth seeing.

 Seeing this, I was curious to see him the other day. On the second day, I see that the child of the little lizard is working hard with double enthusiasm. But he had little success that day. Struggling with bigger lizards than the first day, with double enthusiasm. But today he was not as unsuccessful as yesterday. He was not getting enough of you but was getting something. His enthusiasm was much higher than yesterdays. I saw this sequence for four days.

Today the child of the same lizard used to run away from the big lizards in front of them. Till he saw it, it seemed that man can learn from anyone. Today this little lizard kid was my teacher, today he taught me the lesson of hard work. Because success and success is everywhere, we have to fight hard to be successful.

 This nature is our Good Teacher. For me, the child in it, like a teacher, can take even his younger self, nature is full of knowledge, knowledge of books is essential that what you choose from where you can change things in your right way.




प्रकृति हमारी अच्छा गुरु है

Motivational story of a Lizard which changed My life. Here I write a true story of a Lizard. Story has changed my whole life and my aim.

प्रकृति हमारी अच्छा गुरु है हमारे चारों ओर प्रकृति में बहुत चीजें छुपी हुई है। 
 जिससे हम ज्ञान अर्जित कर सकते हैं।  ज्ञान का अर्थ यह नहीं है कि हम किताब ही पढ़ें, ज्ञान का सच्चा अर्थ है की हम कुछ  ऐसा सीखें जो  हमारे लिए और हमारे समाज  के लिए उपयोगी हो. ऐसी ही उपयोगी कहानी में आपको सुनाने जा रहा हूं। आप का गुरु  कोई भी हो सकता है जो हमारे जीवन में बहुत बदलाव लासकता है।  वही हमारा सच्चा गुरु है प्रकृति में करोड़ जीवो से हम  बहुत ज्ञान प्राप्त करसकते  है।  आज मैं इन्हीं चीजों में से बारे में एक कहानी बताने जा रहा हूं जो मैंने देखी थी

दोस्तों आज मैं ऐसी कहानी बताने जा रहा हूँ जो हमें सोचने पर मजबूर कर देता है।  ज्ञान को हम  कहीं से भी ले सकते हैं।  क्योंकि मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है और इसकी सीखने की क्षमता भी सबसे अधिक है।  लेकिन कभी-कभी हम उन चीजों से भी बहुत महत्वपूर्ण ज्ञान मिलता है जिन्हे हम हमेसा नजर अंदाज करे आये है। और वे छोटी -छोटी चीज हमारे जीवन को बदल सकती है। जो हमारे लिए बहुत उपयोगी है। 

  दोस्तों  आज आपको एक छिपकली  के बच्चे की कहानी बताने जा रहा हूँ।  जिसने मुझे उत्साह से भरदिया।  एक दिन मैंने अपने घर के आंगन में लेटा हुआ था। अचानक मेरी नजर एक छिपकली के बच्चे पर पड़ी वह  एक दीवाल पर अपने भोजन की तलाश कर रहा है। 

 मेरा  घर  पुराना डिजाइन का बना हुआ है।  बरसात का सीजन था और  हलकी गर्मी थी।  क्योकि बरसात के सीजन में बहुत से छोटे -छोटे कीट लाइट देखर बल्व के पास आजाते है। मेने अपने आँगन  की दीवाल पर बहुत छिपकलियों को देखा जो बल्व के चारोओर उड़ने वाले कीटो को खा रही थी। उन्ही छिपकलियों में एक बहुत छोटा छिपकली का बच्चा था  जिसकी उम्र बहुत कम थी। वह अपनी शिकार  कर ने के लिए बहुत कठिन मेहनत  कर रहा है लेकि उसे सफलता नहीं मिलरही है।  उस दिन में करीब दी घंटे तक उसे देखता रहा लेकिन उसे सफलता नहीं मिली सायद उस दिन वह भूखा ही रहाहो।लेकिन उसका जोश और उत्शाह देखने लायक था। 

 इसे देखकर मेरी जिज्ञास उसे दुसरे दिन देखने की हुई। दूसरे दिन में देखता हु की वह छोटासा छिपकली का बच्चा दुगने उत्साह के साथ मेहनत कर रहा है।  लेकिन उस दिन उसे थोड़ी सफलता मिली।  पहले दिन की अपेक्षा डबल उत्साह से  बड़े-बड़े छिपकलियों के साथ संघर्ष कर रहा था।  लेकिन आज वह कल की तरह असफल नहीं था उसके पास पर्याप्त मात्रा में आप नहीं मिल रहा था लेकिन कुछ प्राप्त कर रहा था। उसके उत्साह को कल के की अपेक्षा बहुत अधिक था। इस क्रम को मेने चार दिन देखा।     

आज वही छिपकली का बच्चा बड़ी बड़ी छिपकलियों के सामने से उन के शिकार को भी लेकर भाग जाता था।  तक उसे देखा ऐसा लगा की मनुष्य किसी से भी सीख सकतत है।  आज यह छोटा सा छिपकली का बच्च मेरा गुरू था आज उसने मुझे उत्साह के साथ मेहनत  करने का  पाठ सिखाया था। क्योकि  जगह सफलता  और सफलता हर जगह पर है सफल होने के लिए  हमें कठिन संघर्ष करना होगा।

 ये प्रकृति ही हमरी सबसे बड़ा गुरु है। मेरे लिए इसमें का बच्चा एक गुरु की तरह अपने छोटे से भी ले सकते हैं प्रकृति ज्ञान से भरी हुई है किताबों का ज्ञान ही जरूरी है कि आप कहां से क्या चीज चुनने वाली बात अगर आपके सही तरीके से तो बदल सकती है

Categories: Uncategorized